@ Ashish sagar,Banda

– सपा नेता रामगोपाल यादव के रिश्तेदार झाँसी निवासी रामचरण यादव,राजभवन उपाध्याय जिला पंचायत सदस्य बाँदा,एक विधायक के इशारे पर हो रहा ये खनन !
– बसपा के पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन के सम्बन्धी सहीद सिद्दकी और अयूब भी हाथ आजमा रहे है.
– बीजेपी का विधायक अवैध खदान में 50 % का हिस्सेदार,चरण सिंह यादव को बारिश में बालू डंपिंग का लाइसेंस मिला है लेकिन उसकी आड़ में किसान के खेतों से हो रही बालू चोरी ! 
– बीते माह नरैनी के विधायक देर रात करतल मार्ग में ट्रक चेकिंग करते हुए सामने आये, मौके पर एसडीएम ने वीडियो बनाया, जिलाधिकारी बाँदा को सूचना दी गई….अन्दर की बात ये निकली कि बाँदा के जी न्यूज़ पत्रकार,बबलू त्रिपाठी गिरवा के ट्रक सहित आला अधिकारी के रिश्तेदार भी ओवर लोडिंग ट्रक में शामिल थे. 
– गिरवा खत्री पहाड़ मार्ग से शेरपुर स्योढ़ा होते हुए एमपी पुल के पार बालू डंप के नाम पर हो रहा है ट्रैक्टर से ये खनन. 
– दिन में खेत में सूपा लगाकर मिट्टी की सफाई और रात में लाल बजरी की ढुलाई ! 

18 नवम्बर, बाँदा – बुन्देलखण्ड में बालू का अवैध खनन कहाँ हो रहा है ? यूपी प्रदेश में योगी की सरकार है,एमपी में शिवराज है सब चकाचक है ! यूपी की सीमा में खेत से बालू निकासी के लिए हाल ही में दो हजार रूपये शुल्क देकर लाइसेंस का सरकारी आदेश है. बावजूद इसके जिला स्तर में किसान के लिए खेत से बालू सफाई की एनओसी लेना आसान काम नहीं है. यहाँ भी बड़े कारोबारी किसान के संपर्क में है या बिचौलिए के माध्यम से बात की जा रही है…जो किसान तैयार है उन्हें उनका शेयर या एकमुश्त रकम देकर खनन करने की कवायद की जा रही है. ये तस्वीरें बाँदा के गिरवा मार्ग से शेरपुर स्योढ़ा होते हुए एमपी पुल पार करके एमपी सीमा में कुरधना खदान,जिला छतरपुर की है.इधर भूमिधरी खेत मालिक राममिलन गुप्ता निवासी शेरपुर खत्री पहाड़,सहीद सिद्दकी निवासी स्योढ़ा,पप्पू गर्ग निवासी गोयरा थाना एमपी,लाले यादव निवासी फत्तेपुर एमपी आदि चलवा रहे है. इन खेतो में खेती नहीं की जाती है. बहुत पहले की बाढ़ में टीलों के नीचे लाल बालू है…खेत मालिक को सपा के हाई कमान नेता रामगोपाल यादव के रिश्तेदार चरण सिंह यादव निवासी झाँसी,राजभवन उपाध्याय निवासी नंगनेधी,जिला पंचायत सदस्य,एक विधायक डील करते है. चरणसिंह की आडियो रिकार्डिंग मेरे पास मौजूद है जिसमें वे ट्रैक्टर चलवाने की बात कर रहे है.किसान को तीन सौ रुपया प्रति ट्राली डंप करने का दिया जाता है. पुल के समीप डंप के लाइसेंस पर बालू गिरती है और बाहर महंगे दाम में बेचीं जाती है..ये तस्वीर गवाह है किस तरह दोनों प्रदेश के सरकारी तंत्र के नाक तले बालू चोर टार्च लगाकर सेंधमारी कर रहे है..इन टीलों में ऊपर मिट्टी की परत हटते ही नीचे लाल बालू है…एक ट्रक नंबर UP41 AT4104 अवैध बालू में एक रुपया नहीं देता है..बालू चोरी में मस्त ये लोग अपनी तस्वीर लेते समय भी बेसुध थे ! चरण सिंह यादव को क्रम संख्या 849,खसरा नंबर 3334 खदान फत्तेपुर के नाम से लाइसेंस है, क्योंकि वे अपनी नदी खदान से सपा सरकार में लिफ्टर लगाकर लाल सोना लूट चुके है इसलिए अब योगी राज में डंपिंग की छाया में लाल सोने से माया कमा रहे है ! उधर बाँदा के खपटिहा में गोरखपुर की कम्पनी नार्दन एक्सप्रेस वे किसान के खेतों से पोकलैंड,जेसीबी निकालकर सीमा से बाहर,कोर्ट आदेश के विपरीत खनन कर रही है ! लिखने को बहुत कुछ शेष है फ़िलहाल बानगी के लिए इतना ही कि चोर अब सरकार और स्थानीय व्यवस्था के सहमती पर बेलगाम है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here