राज्य के अपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) ने भोजपुरी फिल्म के एक सीन की फर्जी फोटो शेयर करके सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया है। इस तस्वीर के चलते पश्चिम बंगाल में सांप्रदायिक हिंसा फैल गई थी, जिसमें पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्से में स्थित 24 परगना में एक शख्स की जान चली गई थी। सीआईडी ने बताया कि जिस तस्वीर को पश्चिम बंगाल का बताया जा रहा है, वह वास्तव में 2014 में रिलीज हुई भोजपुरी फिल्म ‘औरत खिलौना नहीं’ का एक सीन है। सीआईडी की तरफ से किए गए ट्वीट में बताया गया है कि इसमें मामले में भाजपा नेता तरुण सेनगुप्ता को गिरफ्तार किया गया है।

वहीं गिरफ्तार हुए तरुण सेनगुप्ता बताते हैं कि वो असनसोल जिले में भाजपा के आईटी सेल प्रभारी हैं। उनपर आरोप है कि इन्होंने शहर में दंगा भड़काने के लिए सोशल मीडिया पर एक फर्जी फोटो पोस्ट किया था, जिससे राजनीतिक फायदा पहुंच सके।

पुलिस के मुताबिक, 24 परगना क्षेत्र में हिंसा फैलाने के मामले में ये दूसरी गिरफ्तारी है। कुछ दिन पहले ही इसी मामले में एक और शख्स को गिरफ्तार किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here