नई दिल्ली: दिल्ली-पटना सहित 12 ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी के बाद लालू यादव ने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है. लालू यादव ने बीजेपी पर भी जमकर निशाना साधा. रांची से पटना लौटे लालू ने शुक्रवार शाम बेटे तेजस्वी यादव के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की. सीबीआई ने आज पटना के अलावा दिल्ली, रांची, पुरी और गुरुग्राम के 12 ठिकानों पर छापे मारे.
लालू यादव ने कहा, ”आईआरसीटीसी का गठन 1999 में हुआ और 2002 में यह फंक्शन में आया. 2003 में दिल्ली, हाबड़ा, राची और पुरी के होटल रेलवे ने आईआरसीटीसी को हैंड ओवर कर दिया. रेलवे ने आईआरसीटीसी को 15 साल की लीज पर होटल दिए. मैं 31 मई 2004 को मंत्री बना, मेरे रेलमंत्री बनने के पहले ही एनडीए सरकार यह निर्णय ले चुकी थी. इसी निर्णय के तहत 2006 में टेंडर किया गया, यह टेंडर खुली बोली के आधार पर हुआ था.”

लालू यादव ने कहा, ”सुना है कि तेजस्वी यादव पर भी केस किया है, ये तो उस वक्त नाबालिग था. राबड़ी देवी पर भी केस किया है, वो तो कोई पब्लिक सर्वेंट थी नहीं, फिर इन लोगों को क्यों फंसाया जा रहा है.”

इसके साथ ही लालू यादव ने बीजेपी पर भी जमकर हमला बोला. लालू यादव ने कहा है कि बीजेपी हमें नेस्तनाबूत करना चाहती है. लालू यादव ने सीधे प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर भी हमला बोला.

लालू ने कहा, ”मोदी और अमित शाह सुन लें, फांसी पर लटक जाएंगे लेकिन संपूर्ण रूप से तुम्हारी बुनियाद, तुम्हारा अंहकार चूर चूर कर देंगे. बिहार से हमने लौटाया है, लेकिन फिर बिहार को हथियाना चाहते हैं.”
लालू यादव ने बीजेपी पर महागठबंधन को तोड़ने का आरोप भी लागाया. उन्होंने कहा, “बीजेपी महागठबंधन को तोड़ना चाहती है. 27 तारीख को ऐतिहासिक रैली हो रही है, उसमें हम अपनी सारी बात रखेंगे.”
लालू यादव ने कहा, ”अब आप आगे की राजनीति देखते जाइए, हम बीजेपी को उखाड़ कर फेंक देंगे. हमारा महागठबंधन अटूट है. गठबंधन और इन छापों का कुछ भी लेना देना नहीं है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here