उत्तरप्रदेश में अगले 48 घंटों के भीतर मुसलाधार बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग  के अनुसार गोंडा, कुशीनगर, बलरामपुर, बहराइच, शाहजहांपुर, श्राबस्ती, मुजफ्फरनगर और इलाहाबाद में भारी बारिश का अनुमान है।

केंद्रीय मौसम विभाग ने यूपी में बारिश को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है।  भारी बारिश के चलते लगातार गोंडा के घाघरा का जलस्तर बढ़ रहा है। जिले की दो तहसीलों के करीब ढाई सौ गांवों की नजर एलिगन बंधे पर टिक गई है।

दरअसल ये बांध एक किलोमीटर लम्बा पूरी तरह से कटा और खुला हुआ है। जिसके आगे प्रशासन ने घुटने टेक दिए हैं। ग्रामीणों को नदी बढ़ते जलस्तर से भय लग रहा है कि ये कभी भी उफान पर आ सकता है। इसलिए वे अभी से सुरक्षित व ऊंचे स्थानों की ओर पलायन कर रहे हैं। करनैलगंज व तरबगंज तहसीलों के इन गांवों की चिंता भी बाढ़ को लेकर है। अगर पानी का स्तर बढने के साथ ही गांवों में नदी का पानी घुसना शुरू हो जाएगा तो बाढ़ से तबाही मच जाएगी।

घाघरा नदी का जलस्तर प्रति घंटे 2 सेमी बढ़ रहा है। जबकि सरयू नदी 3 सेमी प्रति घंटे की तेजी से इजाफा हो रहा है। केन्द्रीय जल आयोग के अनुसार एलिगन ब्रिज पर रात आठ बजे घाघरा नदी 105. 221 मीटर पर थी, जबकि नया घाट पर सरयू नदी 91.270 मीटर पर बह रही है। दोनों नदियों की चेतावनी बिन्दु को पार कर चुकी हैं।
विंध्याचल थाना क्षेत्र के लेहड़िया गांव में बारिश का कहर शुरू हो गया है। खजुरी नदी का पानी गांव मे घुस गया। एक ही परिवार के 6 लोग बह गए।  एक महिला का शव बरामद हो गया, अन्य की खोजबीन हो रही है।
कई घरों में पानी भर गया और गांव चारों तरफ से पानी से घिर गया है। बचाव के लिए लोगों ने घरों की छतों और पहाड़ों पर शरण लिया। पानी मे  कई मवेशियो के बह जाने की भी सूचना है।

वहीं, मड़िहान थाना के रैकरी गांव में भी बाढ़ की स्थिति हो गई है। कलवारी से लालगंज संपर्क मार्ग पर ग्राम सभा सुगपाख के सामने सड़क के ऊपर से पानी बह रहा है। जिसके चलते सुबह 8 बजे से 10 बजे तक आवागमन बंद रहा। कई गाड़िया घूम कर जाने को विवश हुईं। छानबे ब्लाक के भिलौरा गांव, थाना जिगना  में बाढ़ से सारे घर पानी में घिर गए हैं। लोग घरों से सामान लेकर उच्चे स्थान पर जाने को विवश हो रहे हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here