पाकिस्तान ने गुरुवार (13 जुलाई) को कहा कि वह जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा मृत्युदंड की सजा पाए कुलभूषण जाधव की मां को वीजा देने के भारत के अनुरोध पर विचार कर रहा है। पाकिस्तानी समाचार-पत्र ‘नेशन डेली’ के अनुसार, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने हालांकि भारत में उपचार के लिए वीजा चाहने वाले पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा प्रदान करने पर सख्त पाबंदी लगाए जाने पर अफसोस भी जाहिर किया।

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को शिकायती लहजे में कहा था कि पाकिस्तान जाधव की मां को वीजा नहीं दे रहा। सुषमा ने कहा था कि उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर पाकिस्तान के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज को जाधव की मां अवंतिका जाधव को वीजा दिए जाने के बारे में लिखा है। जाधव की मां पाकिस्तान के किसी अज्ञात जेल में बंद अपने बेटे से मिलना चाहती हैं।

सुषमा का यह बयान पाकिस्तान की उन मीडिया रिपोर्टों के बीच आया, जिनमें कहा गया है कि इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग ने 25 वर्षीया पाकिस्तानी युवती के मेडिकल वीजा का आवेदन खारिज कर दिया, जो ट्यूमर के इलाज के लिए भारत जाना चाहती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here