भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद हेतु आखिरकार रवि शास्त्री को नियुक्त कर दिया गया है। रवि शास्त्री तीसरी बार टीम इंडिया से जुड़े हैं। रवि शास्त्री के साथ 2019 तक अनुबंध किया गया है। 10 जुलाई को कोच चुनने के लिए नियुक्त क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी (सीएसी) ने उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया था। चयन पहले ही ये बात सामने आ चुकी थी कि शास्त्री ही कप्तान कोहली की पहली पसंद थे।

इस दौरान सचिन तेंदुलकर, एक सीएसी सदस्य के अलावा  ज्यादातर लोग स्काइप से जुड़े हुए थे। इकलौते वीरेंद्र सहवाग व्यक्तिगत तौर पर इंटरव्यू देने पहुंचे थे। जिन उम्मीदवारों ने कोच पद के लिए प्रेजेंटेशन दी, उनमें रवि शास्त्री, टॉम मूडी, वीरेंद्र सहवाग, रिचर्ड पायबस और लालचंद राजपूत थे।

रवि शास्त्री इससे पहले 2014-2016 तक टीम के निदेशक रह चुके हैं। वह पूर्व कोच अनिल कुंबले का स्थान लेंगे। टीम के साथ कोच के तौर पर उनका पहला कार्यकाल 26 जुलाई से शुरू हो रहा श्रीलंका दौरा होगा। हालांकि सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की सीएसी ने सोमवार को पांच उम्मीदवारों के इंटरव्यू लिए थे, लेकिन अपना फैसला कप्तान विराट कोहली से चर्चा तक रोक लिया था। लेकिन मंगलवार को सर्वोच्च अदालत द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) द्वारा सीएसी को आज ही कोच के नाम की घोषणा करने का आदेश देने के बाद बोर्ड और सीएसी ने नए राष्ट्रीय कोच के तौर पर रवि शास्त्री के नाम की घोषणा कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here