टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली 44 साल के हो गए। बाएं हाथ के इस कलात्मक बल्लेबाज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत तो 1992 में वन-डे से की, लेकिन उन्हें पहचान 1996 के इंग्लैंड दौरे से मिली। आज उनके जन्मदिन के खास मौके पर पढ़िए उनसे जुड़ी दिलचस्प बातें-

1.सौरव गांगुली फुटबॉल के बड़े फैन रहे हैं और उनका पहला प्‍यार भी। एक बार स्‍कूल की 10 दिनों की छुट्टी में उनके पिता ने सौरव को क्रिकेट एकेडमी में दाखिला दिला दिया जिसके बाद उनको क्रिकेट से प्यार हो गया और क्रिकेट का बड़ा सितारा बन गए।

2. सौरव गांगुली को पहली बार 1992 में भारतीय टीम में शामिल किया गया था, लेकिन वे तुरंत ही टीम से निकाल दिए गए। वजह यह थी कि उनका व्‍यवहार कुछ लोगों को रास नहीं आया और उन्‍होंने टीम मैनेजमेंट से उनकी शिकायत कर दी।

3. हालांकि, सौरव ने हिम्‍मत नहीं हारी और लगातार मैदान पर पसीना बहाते रहे। 1996 में लॉड्स में अपने ही पहले ही मैच में सौरव ने शतक जड़ा। सौरव को यह मौका भी नवजोत सिंह सिद्धू की वजह से मिला था, जिनकी उस समय तत्‍कालीन कप्‍तान अजहरुद्दीन से अनबन हो गई थी और उन्‍होंने खेलने से इनकार किया था।

4. दादा के नाम से मशहूर सौरव गांगुली ने 113 टेस्ट मैचों में 7,212 रन बनाए हैं, जबकी 311 वनडे मैचों में उन्होंने 22 सेंचुरी की मदद से 11,363 रन बनाए। वनडे मैचों में रन बनाने में गांगुली की गिनती दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों में हुई।

5. साल 2000 से 2005 के बीच सौरव की कप्‍तानी में भारत ने 21 टेस्‍ट मैचों में जीत हासिल की थी। गांगुली के पसंदीदा कप्तान वेस्‍टइंडीज के धाकड़ बल्‍लेबाज ब्रायन लारा हैं।

6. साल 2003 में सौरव गांगुली टीम इंडिया को आईसीसी वर्ल्‍ड कप के फाइनल तक ले गए थे, लेकिन फाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों शिकस्‍त का सामना करना पड़ा।

7. 2008 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई सीरीज ‘सीमा गावस्कर ट्रॉफी’ उनकी आखिरी टेस्ट सीरीज थी।

8. पश्चिम बंगाल के उत्‍तरी 24 परगना जिले में सौरव के नाम पर डेढ़ किलोमीटर लंबी सड़क है।

9.  वनडे में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच रहने के मामले में सौरव गांगुली सचिन तेंदुलकर के बाद दूसरे भारतीय क्रिकेटर हैं। सचिन तेंदुलकर 62 बार मैन ऑफ द मैच बन चुके हैं जबकि गांगुली को 31 बार मैन ऑफ द मैच चुना गया है।

10. सौरव गांगुली और डोना की लव स्टोरी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। उनकी पत्नी डोना पेशे से एक ओडिसी डांसर थी। डोना सौरव गांगुली के पड़ोस में रहती थीं। स्कूल के दिनों से ही गांगुली डोना को प्यार करते थे। स्कूल से आने के बाद वो डोना को देखने के लिए साइकल पर एक चक्कर लगाते थे। डोना भी गांगुली को पसंद करती थी। लेकिन दोनों के परिवारों में आपसी दुश्मनी थी. परिवार को बिना बताए दोनों ने 12 अगस्त 1996 में शादी कर ली। इस समय तक गांगुली मशहूर हो चुके थे। उनके परिवार वाले उनकी शादी ब्राह्मण लड़की से करवाना चाहते थे। जब दोनों ने अपनी शादी की बात घरवालों को बताई तो दोनों के घरवालों ने इस शादी को नहीं माना। धीरे-धीरे उन्होंने रिश्ता मान लिया। 21 फरवरी को एक छोटा सा समारोह आयोजित किया गया। इस दिन को दोनों अपनी शादी की सालगिराह के रूप में मनाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here