पटना: बिहार में महागठबंधन पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. हालांकि, लालू यादव और नीतीश कुमार वर्तमान हालात में दोनों के बीच आई दूरियां कम करने का भरसक प्रयास कर रहे हैं. इसी बीच, विपक्षी पार्टी भाजपा ने स्पष्ट कर दिया है कि वह नीतीश कुमार को समर्थन देने के लिए तैयार है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने मीडिया में बयान दिया है कि अगर नीतीश कुमार राजद से अपना नाता तोड़ लेते हैं तो बीजेपी उन्हें बाहर से समर्थन देगी. हालांकि उन्हें बाद में जोड़ दिया कि अंतिम फैसला केंद्रीय नेतृत्व का होगा. हालांकि, इसकी संभावना बहुत ही कम है कि बिहार में सत्ता में बदलाव के समीकरण देखने को मिले लेकिन संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

तमाम अटकलों के बीच आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने सोमवार को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई थी. इस बैठक में विधायकों ने फैसला लिया कि लालू प्रसाद यादव के बेटे और राज्य के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव अपने पद पर बरकरार रहेंगे और इस्तीफा नहीं देंगे.

उधर, इस पूरे प्रकरण पर नीतीश कुमार चुप्पी साधे हुए हैं. लालू परिवार पर हुई छापेमारी के दौरान वह पटना में नहीं थे. बताया जा रहा है कि मंगलवार को नीतीश कुमार भी अपने विधायकों और सांसदों के साथ बैठक करने वाले हैं. माना जा रहा है कि वह बैठक के बाद अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं. आरजेडी के एक वरिष्ठ नेता जगदानंद ने बताया, “नीतीश कुमार ने कल लालू से बात की थी. वह बीमार थे.”  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here