उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या में ढाई सौ करोड़ रुपये खर्च कर पर्यटन स्थलों का विकास करेगी। साथ ही पर्यटकों के लिए सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। राज्य सरकार ने इसके लिए एक परियोजना भारत सरकार को भेजी है। पर्यटन महानिदेशक अवनीश अवस्थी ने बताया कि धार्मिक स्थलों पर कई नए प्रोजेक्ट चलाकर सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी।

अयोध्या, वाराणसी, नैमिषारण्य, गोरखपुर, इलाहाबाद, विंध्य क्षेत्र, बुंदेलखण्ड, बौद्ध सर्किट आदि पर वरीयता से काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि बुजुर्गों की तीर्थ यात्रएं जारी रहेंगी। यह योजना सपा सरकार में समाजवादी श्रवण यात्र के नाम से बुजुर्गों के लिए कराई जा रही थीं।

वहीं, अब बड़े मेलों की व्यवस्था व प्रचार का जिम्मा भी पर्यटन विभाग उठाएगा। साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वॉटर स्पोर्ट्स की 45 करोड़ रुपये की परियोजना पर काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि हेरिटेज टूरिज्म पर भी जल्दी काम शुरू होगा।

वाराणसी में रिवर क्रूज़ चलाने की योजना है। हमारे पास सांसदों और विधायकों की तरफ से भी प्रस्ताव आ रहे हैं और हम उन पर काम कर रहे हैं। उन्होंने समाजवादी श्रवण यात्र पर कहा कि बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रएं जारी रहेंगी। गोवर्धन में होने वाले मेले में विभाग काम कर रहा है। भारत सरकार ने यूपी के लिए 90-92 परियोजनाएं मंजूर की हैं, जिनमें से भाजपा सरकार 70-75 प्रोजेक्ट्स के लिए जमीन दे चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here